स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना 2021: PM Gram Swarozgar Yojana List, आवेदन फॉर्म PDF

Pradhan Mantri Swarna Jayanti Gram Swarozgar Yojana 2021 | SGSY Village List, Application Form PDF & Benefits | Swaranjayanti Gram Swarozgar Yojana Employment in Hindi


नमस्कार दोस्तों, आज हम आपको स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना (SGSY) के बारे में बताने जा रहे हैं। हमने आपको अपनी पिछली पोस्ट में प्रधानमंत्री युवा रोजगार योजना (PMRY) के बारे में बताया था। ई-ग्राम स्वरोजगार योजना या Swarna Jayanti Gram Swarozgar Yojana 2021 बहुत पुरानी स्कीम है। इस योजना के तहत ग्रामीण लोगों को स्वरोजगार के बहुत से अवसर प्रदान किये जाते है। जैसे कि गरीबो का स्व-सहाय दल बनाना, प्रशिक्षण, ऋण, लघु उद्योग, बुनियादी सुविधाएं प्रदान करना आदि। इस योजना की पेशकश के साथ कई और समाजवादी कार्यक्रम शुरू किये जाएंगे।

स्वर्ण जयंती शहरी रोजगार योजना को अप्रैल 1999 प्रारंभ की गया था। यह योजना ग्रामीण गरीबों को रोजगार के अवसर मुहैया कराने के लिए एक समन्वित कार्यक्रम है। इस स्व-रोजगार योजना का मुख्य उद्देश्य गरीबी रेखा से नीचे (BPL) जीवन-यापन कर रहे नागरिकों की सहायता करके क्षमता निर्माण, ट्रेनिंग, सामाजिक एकजुटता तथा आमदनी देने वाली सम्पतियों की व्यवस्था के माध्यम से उन्हें स्वयं मदद समूहों के रूप में संयोजित करना है। इस ई-ग्राम स्वरोजगार योजना के अंतर्गत यह काम सरकारी सब्सिडी तथा बैंक लोन के माध्यम से किया जाता है। स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना 2021 आवेदन फॉर्म पीडीएफ फॉर्मेट में नीचे खंड में दिया गया है।

Swarnajayanti Gram Swarozgar Yojana - SGSY Application Form PDF

स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना क्या है?

Swarna Jayanti Gram Swarozgar Yojana – प्रधानमंत्री स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे जीवन-यापन करने वाले नागरिकों (BPL Families) को अनुदान तथा लोन मुहैया कराकर गरीबी रेखा से ऊपर लाना है। इस योजना के अंतर्गत 3 लाख 75 हज़ार स्व-रोजगारियों को 1 हज़ार 370 करोड़ 68 लाख रूपये का अनुदान तथा लोन दिया गया है। इस कार्यक्रम के तहत ग्रामीण इलाकों में निरंतर आय सृजन के अवसर उत्पन्न करने के लिए गरीब नागरिकों की क्षमता को बढ़ाया गया है। इसके अलावा, प्रत्येक इलाकें की जमीन पर आधारित तथा अन्य संभावनाओं के आधार पर भारी मात्रा में छोटे उद्यमों की स्थापना पर ज्यादा ध्यान दिया गया है।

पीएम स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना के लाभ

Benefits of PM Swarna Jayanti Gram Swarozgar Yojana – प्रधानमंत्री स्वर्ण जयंती ग्राम स्व-रोजगार योजना के तहत इसमें अलग-अलग कारकों जैसे; गरीब नागरिकों में क्षमता उत्पन्न करना, टेक्नोलॉजी हस्तांतरण, लोन, कौशल उन्नति ट्रेनिंग, ढांचागत तथा विपणन मदद पर खासकर जोर दिया गया है।

  1. इस योजना के तहत अनुवृत्ति योजना का खर्च के 30 % की दर से दी जाती है। परंतु इस योजना में अधिकतम सीमा 7,500 रूपये निर्धारित की गई है।
  2. स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना के तहत स्वयं मदद समूहों (SHG) को योजना खर्च का 50 % तक अनुवृत्ति दी जाती है। जिसकी अधिकतम सीमा 1 लाख 25 हज़ार रूपये या प्रत्येक व्यक्ति 10,000 रुपये है।
  3. इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण निर्धनों में कमजोर वर्गों पर खासकर ध्यान दिया जाता है।
  4. ग्राम स्वरोजगार योजना के तहत स्‍व-रोजगारियों में से न्यूनतम 50 % अनुसूचित जनजातियों तथा अनुसूचित जातियों से 40 % महिलाओं तथा 3 % विकलांगो को युक्त किया जाएगा।
  5. स्व-रोजगार योजना के अंतर्गत एक बार लोन देने के बदले बहु-लोन की सेवाओं को वरीयता दी जाती है।

प्रधानमंत्री स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना 2021

Pradhan Mantri Swarna Jayanti Gram Swarozgar Yojana – स्वर्ण जयंती ग्राम स्व-रोजगार योजना के तहत गाँव के निर्धनों में से असुरक्षित दलों पर विशेष ध्यान दिया जायेगा। इसके अलावा, इसमें 50 % अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजातियां तथा 40 % महिलाओं को तथा 3 % विकलांग व्यक्तियों को वरीयता दी जाएगी। इस स्वरोजगार योजना के अंतर्गत ग्राम-सभा में विधिवत रूप से स्वीकृत बीपीएल (BPL) जनगणना के माध्यम से पहचानी गई गरीबी रेखा से नीचे की घरेलु चीजों की सूची को शामिल किया गया है। इस योजना के तहत गाँव के निर्धनों को स्वर्ण जयंती ग्राम स्व-रोजगार योजना का दल बनाये जाएगा।

Swarna Jayanti Gram Swarozgar Yojana Application & Selection Process: – बीडीओ, बैंकर और सरपंच तीन सदस्यदल द्वारा स्वरोजगार योजना के तहत बीपीएल परिवारों का चयन होता है।
Download SGSY Application Form PDF: Click Here
*****
स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना रूरल एम्प्लॉयमेंट (swarnajayanti gram swarozgar yojana rural employment) के बारे में और अधिक जानने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके पूरा लेख पढ़ें।

दीनदयाल अंत्योदय योजना (राष्ट्रीय आजीविका मिशन)

Deendayal Antyodaya Yojana (National Livelihood Mission) – दीनदयाल अंत्योदय योजना की सुविधाएँ को आसानी से लोगों तक पहुंचाने के लिए इस योजना को दो भागों मे बाटा गया है। पहला ग्रामीण भारत के लिए राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (NRLM) और दुसरा शहरी भारत के लिए राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन (NULM) के रूप में बांटा गया है।

अंत्योदय लोन योजना को शहरी क्षेत्रों को आवास और शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्रालय (HUPA) के द्वारा लागु किया गया है। वही ग्रामीण क्षेत्रों मे ग्रामीण विकास मंत्रालय (MoRD) को लागू किया गया है। यदि आप भी दीनदयाल अंत्योदय योजना के लिए पात्र हैं तो आज ही आवेदन करके इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

स्वर्णजयंती ग्राम स्वरोजगार योजना 2021 के उद्देश्य

Swarnajayanti Gram Swarozgar Yojana (SGSY) का पूरा विवरण भारत सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर मौजूद हैं। एसजीएसवाई के उद्देश्य इस प्रकार हैं:

  1. पूरे देश में ग्रामीण इलाकों में बड़ी संख्या में सूक्ष्म उद्यम स्थापित करके गरीबी को कम करने के लिए।
  2. स्वर्ण जयंती शहरी रोजगार योजना इन हिंदी के तहत समूह ऋण की पूंजीकरण।
  3. सूक्ष्म उद्यमों का एक समग्र कार्यक्रम जिसमें स्व-रोजगार के हर पहलू को शामिल किया गया है जिसमें ग्रामीण गरीबों के संगठन को स्वयं सहायता समूहों में शामिल किया गया है।
  4. जिला ग्रामीण विकास एजेंसियों, बैंकों, रेखा विभागों, पंचायती राज संस्थानों, एनजीओ (NGO) इत्यादि जैसी कई एजेंसियों का एकीकरण।
    बैंक क्रेडिट + सरकारी सब्सिडी जैसे मिश्रित आय उत्पन्न करने वाली संपत्तियां प्रदान करना।
  5. स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना को अब राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (DAY-NRLM) के रूप में पुनर्गठित किया गया है और बाद में इसका नाम बदलकर आजीविका मिशन रखा गया।

ई-ग्राम स्वरोजगार योजना सूची 2021-22

e-Gram Swarozgar Yojana List – सभी लोग एसजीएसवाई योजना पीडीएफ में स्वर्णजयंती ग्राम स्वरोजगार योजना के लाभों की जांच कर सकते हैं। हम आपको योजना घटकों और उनके लाभों पर मूलभूत जानकारी प्रदान कर रहे हैं, जो निम्नानुसार है:

  • कौशल उन्नयन
  • गतिविधि क्लस्टर, स्व-सहायता समूह (SHG)
  • परिक्रामी निधि
  • ऋण मानदंड
  • आईआरडीपी उधारकर्ताओं के लिए सहायता
  • बीमा रक्षण
  • सुरक्षा मानदंड
  • सब्सिडी और पोस्ट क्रेडिट अनुवर्ती
  • खपत क्रेडिट के लिए जोखिम फंड
  • ऋण की चुकौती की कम से कम 5 साल की अवधि
  • ऋण की शीघ्र वसूली
  • एसजीएसवाई ऋण का पुनर्वित्त
  • डीआरडीए को बैंक के अधिकारियों का प्रतिनियुक्ति
  • सेवा क्षेत्र दृष्टिकोण
  • डेटा और वार्षिक क्रेडिट योजना जमा करना
  • एलबीआर रिटर्न

Key Features of Swarnajayanti Gram Swarozgar Yojana

नेशनल रूरल लाइवलीहुड मिशन की महत्वपूर्ण विशेषताएं और हाइलाइट इस प्रकार हैं:

योजना का नाम स्वर्णजयंती ग्राम स्वरोजगार योजना (एसजीएसवाई)
लॉन्च की गयी पीएम अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा
कब शुरू हुई 1 अप्रैल 1999
उद्देश्य प्रशिक्षण, क्रेडिट, प्रौद्योगिकी, बुनियादी ढांचा, विपणन प्रदान करना और गरीब लोगों को स्वयं सहायता समूहों (SHGs) के रूप में व्यवस्थित करने में सहायता करना। यह गरीबी रेखा (BPL) लोगों के लिए क्षमता निर्माण और आय उत्पादन प्रावधानों के माध्यम से किया जाता है।
लाभार्थियों एसईसीसी डेटा के माध्यम से पहचाने जाने वाले सभी परिवारों का नाम गरीबी रेखा (बीपीएल) सूची में अखिल भारतीय फाइनल में दिखाई देता है और ग्राम सभा द्वारा अनुमोदित पात्र लाभार्थी होंगे।
निधि/ बीमा प्रति व्यक्ति 1.25 लाख रुपये या 10,000/- रुपये की अधिकतम सीमा।
लक्ष्य गरीबी रेखा से कम से कम 30% गरीब परिवारों को बाहर लाने के लिए। एसजीएसवाई ग्रामीण गरीबों के कमजोर वर्ग पर ध्यान केंद्रित करेगी। तदनुसार, अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति में कम से कम 50%, महिला 40% और अक्षम लोगों में से 3% का योगदान होगा।
प्रीमियम लाभांश केंद्र सरकार का 75% हिस्सा और राज्य स्तरीय सरकार का 25% हिस्सा।
ऋण भुगतान अवधि पहला 5 साल है, दूसरा 7 साल है और तृतीयक 9 साल है।
बैंक वाणिज्यिक बैंक, सहकारी बैंक और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक।
आधिकारिक वेबसाइट www.sgsy.gov.in

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top